शिक्षक पर्व पर प्रधानमंत्री मोदी का संबोधन आज, टीचर ट्रेनिंग प्रोग्राम निष्ठा 3.0 जैसे कई NEP के पहलों को करेंगे लांच

0 18

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज पहले शिक्षक पर्व को संबोधित करेंगे। इसमें वे देश भर के शिक्षकों और विद्यार्थियों के साथ-साथ पैरेंट्स से भी सुबह 10.30 बजे आनलाइन संवाद करेंगे। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय 7 सितंबर से 17 सितंबर तक शिक्षा पर्व का आयोजन कर रहा है। इस आयोजन के दौरान शिक्षकों के मूल्यवान योगदान का स्मरण किया जाएगा और नई शिक्षा नीति को क्रियान्वयन के अगले स्तर पर ले जाने पर चर्चा होगी। प्रधानमंत्री वर्चुअल माध्यम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से लाइव संबोधन करेंगे, जिसे विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब पर शिक्षा मंत्रालय के ऑफिशियल पेज/हैंडल से सुबह 10.30 बजे से देखा जा सकेगा।

शिक्षक पर्व 2021 का विषय

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी अपडेट के अनुसार वर्ष 2021 में आयोजित किये जाने पहले पहले शिक्षक पर्व का विषय “गुणवत्ता और सतत विद्यालय: भारत में विद्यालयों से ज्ञान प्राप्ति” है। बारह दिनों तक पूरे देश में मनाया जाने वाला शिक्षक पर्व न केवल सभी स्तरों पर शिक्षा की निरंतरता सुनिश्चित करने, बल्कि देश भर के स्कूलों में गुणवत्ता, समावेशी प्रथाओं और स्थायित्व में सुधार के लिए नवीन तौर-तरीकों को प्रोत्साहित करेगा।

NEP के कई पहल होंगे लांच

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा जारी अपडेट के अनुसार पहले शिक्षक पर्व पर अपने संबोधन के दौरान प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) 2020 के अंतर्गत प्रस्तावित कई पहलों को भी लांच करेंगे। इनमें भारतीय सांकेतिक भाषा कोश (ISDL), टॉकिंग बुक्स, सीबीएसई का स्कूल क्वालिटी एश्योरेंस एंड असेसमेंट फ्रेमवर्क और शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम निष्ठा 3.0 और विद्यांजलि पोर्टल शामिल हैं।

  • भारतीय सांकेतिक भाषा शब्दकोश (ISDL) – ज्ञान के सार्वभौमिक डिजाइन के अनुरूप श्रवण बाधितों के लिए ऑडियो और अंतर्निहित पाठ सांकेतिक भाषा वीडियो।
  • टॉकिंग बुक्स – नेत्रहीनों के लिए बोलने वाली ऑडियो किताबें।
  • CBSE QA फ्रेमवर्क – सीबीएसईकी स्कूल गुणवत्ता आश्वासन और आकलन रूपरेखा।
  • निष्ठा 3.0 – निपुण भारतके लिए ‘निष्ठा’ शिक्षक प्रशिक्षण कार्यक्रम।
  • विद्यांजलि पोर्टल – विद्यालय के विकास के लिए शिक्षा स्वयंसेवकों/ दाताओं/ सीएसआर योगदानकर्ताओं की सुविधा के लिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.