पत्नी बच्चों समेत चार लोगों की हत्या के मामले में जेल में बंद दीपक ने किया आत्महत्या का प्रयास

♦पत्नी, दो बच्चों और उनकी ट्यूशन टीचर की हत्या का है आरोपी ♦धनबाद से पुलिस ने किया था गिरफ्तार, घाघीडीह जेल में है बंद

0 147

जमशेदपुर  :    कदमा थाना क्षेत्र के तिस्ता रोड स्थित क्वार्टर नंबर-98-99 में अपनी पत्नी और दो बच्चों की निर्मम हत्या करने के बाद बच्चों की ट्यूशन टीचर की दुष्कर्म के बाद हत्या के आरोपी दीपक कुमार ने घाघीडीह जेल में आत्महत्या करने का प्रयास किया. उसने जेल परिसर में लगे अग्निशमन यंत्र का नोजल खोल कर अपने मुंह में ले लिया और स्प्रे करने की कोशिश की. इस पर नजर पड़ते ही जेल में मौजूद पुलिसकर्मियों, जेलकर्मियों और कैदियों में हड़कंप मच गया. हालांकि उन्होंने किसी तरह उसे बचा लिया. उसके बाद दीपक को इलाज के लिए एमजीएम अस्पताल ले जाया गया. जहां से उसे बेहतर इलाज के लिए रांची रिम्स रेफर कर दिया गया. घटना बीते 2 सितंबर की शाम करीब पौने सात बजे की है. मामले का खुलासा तब हुआ जब इसे लेकर घाघीडीह जेल के अधीक्षक नरेन्द्र प्रसाद सिंह ने परसुडीह थाना में दीपक के खिलाफ आत्महत्या का प्रयास करने का मामला दर्ज कराया.

मालूम हो कि बीते 12 अप्रैल की सुबह दीपक ने अपनी पत्नी वीणा देवी के अलावा अपनी पुत्री श्रावणी उर्फ दीया और शानवी की बेरहमी से हत्या कर दी थी. वह हत्या के बाद साक्ष्य छुपाने में लगा ही हुआ था तब तक उसकी बेटियों की ट्यूशन टीचर रिंकी भी घर आ पहुंची थी. जब उसे दीपक के कारनामों का पता चला तो दीपक ने उसकी भी बेरहमी से हत्या कर दी. इतना ही नहीं ट्यूशन टीचर की हत्या के बाद दुष्कर्म करने का भी मामला सामने आया था. जब तक पूरा मामला खुल कर सामने आता दीपक अपनी बुलेट मोटरसाइकिल से भाग निकला था. मामले की जांच में जुटी पुलिस उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही थी. पुलिस की काफी मशक्कत के बाद दीपक को धनबाद के हीरापुर स्थित एक बैंक को धनबाद पुलिस की मदद से घटना के चार दिन गिरफ्तार कर लिया गया था. उसके बाद दीपक से पूछताछ के बाद पुलिस ने उसे घाघीडीह जेल भेज दिया था.

Leave A Reply

Your email address will not be published.