टाटा स्टील ने नोआमुंडी में सर दोराबजी टाटा की 162वीं जयंती मनायी और शंकर नेत्रालय का शिविर का उदघाटन

0 177

संवाददाता – मंजीत कोड़ा

जगन्नाथपुर । टाटा स्टील के ओएमक्यू डिवीजन ने शुक्रवार को सर दोराबजी टाटा बॉटनिकल पार्क, नोआमुंडी में अपने पहले चेयरमैन सर दोराबजी टाटा की 162वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया और उनके योगदान को याद किया।
कोविड-19 की मौजूदा स्थिति को ध्यान में रखते हुए और सामाजिक दूरी आदि सभी नियमों का पालन करते हुए इस अवसर का जश्न मनाने के लिए विभिन्न ऑनलाइन गतिविधियों का आयोजन किया गया। दिन की शुरुआत अतुल कुमार भटनागर, जेनेरल मैनेजर, ओएमक्यू डिवीजन, टाटा स्टील द्वारा आर पी माली, चीफ, नोआमुंडी, शिरीष शेखर, चीफ, नोआमुंडी, कमलेश महतो, अध्यक्ष, नोआमुंडी मजदूर यूनियन और जीटी रेड्डी, महासचिव, नोआमुंडी मजदूर यूनियन की उपस्थिति में सर दोराबजी टाटा को श्रद्धांजलि के साथ हुई। इस अवसर पर डी विजयेंद्र, चीफ (माइन प्लानिंग ऐंड प्रोजेक्ट) ओएमक्यू डिवीजन, धीरेंद्र कुमार, चीफ मेडिकल ऑफिसर, टाटा स्टील हॉस्पीटल, नोआमुंडी समेत डिवीजन के अन्य वरीय अधिकारी और यूनियन के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
इस उपलक्ष्य में कोटगढ़ हाई स्कूल नोआमुंडी में एक मोतियाबिंद शिविर का भी उद्घाटन किया गया। टाटा स्टील फाउंडेशन द्वारा शंकर नेत्रालय, चेन्नई के सहयोग से आयोजित शिविर का उद्घाटन संयुक्त रूप से सुनील चंद्र अंचल अधिकारी नोआमुंडी और शिरीष शेखर, चीफ नोआमुंडी, ओएमक्यू डिवीजन, टाटा स्टील ने किया।
इस अवसर पर श्री सुरेंद्र चटोम्बा, मानकी, कोटगढ़ पश्चिम, निरंजन बोबोंगा, मानकी, कोटगढ़ पूर्व, अनिल उरांव, हेड, सीएसआर (ओएमक्यू डिवीजन) टाटा स्टील, हाथीराम मुंडारी, प्राचार्य, कोटगढ़ हाई स्कूल और दीपक श्रीवास्तव, हेड एडमिनिस्ट्रिशन (ओएमक्यू डिवीजन), टाटा स्टील आदि मौजूद थे।
इस शिविर का उद्देश्य दूर-दराज के क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को सर्वोत्तम चिकित्सा सेवाएं प्रदान करना और उनकी आंखों की रोशनी सुनिश्चित करना है। चेन्नई स्थित शंकर नेत्रालय और आईआईटी, मद्रास द्वारा समर्थित यह उन्नत मोबाइल आई मेडिकल यूनिट दूरदराज के गांवों में रहने वाले लोगों को निःशुल्क मोतियाबिंद चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए विकसित किया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.